Transformer Terminator Robot Machine Artificial-Intelligenc - Human Life In Danger

😃Hello friends and welcome to this article, in this article, we will know about computer future. Most of you must have seen that the film is making a lot these days, especially related to robots. And this film is related to our future somewhere. So in this article, we will know the same thing at the deepest level. And it will also know what are its advantages and disadvantages.





what is Computer-


 Initially, when this device was made of iron and tin, people did not even think that this device will progress so much. Initially, people had taken it very lightly, but today see how heavy this lighter thing has become.


The word computer is made from English computer word which means to calculate. Initially it was invented only for calculating and nothing more than this was thought into it.



But as time went on, little by little modification came and as a result of it, today's computer has become very modern and effective. Nowadays only computer is being used everywhere, from small works to big things. In today's world, computer has become king. And if humans are not slaves of that king, then they will become. And you must know that the condition of slaves is much worse


The most important thing is that humans have made computers and today it is being seen that humans are lagging behind the computer by themselves, that is, humans are backward from their own structure. It sounds very funny to listen to, but it is absolutely true, there is nothing here and there.


Future computer usage-


As we said that initially the computer was used only for calculations, but today the condition is that tomatoes, potatoes, coriander, cooking, sleeping - waking up everything has become a human dependent on the computer. If a person is lazy in modern times, then the biggest reason for this is the computer itself. Computer provides so much facility to humans that they are becoming lazy and useless type day by day. Initially, it was created initially only for calculating, but you have been doing something else.


In the coming time, the computer will provide so much convenience to humans that they will not even need to walk because in the coming time, that is, in future, if we talk about future computers, then such devices are going to come that will help humans to walk also. Now humans will not have any need to walk. Because the machine will run them on its own.



Leave aside the matter of walking, the computer of the future will feed food to humans and will also help in sleeping. Not only this, it is believed that if the person likes sex the most, then in the coming time the computer will also provide this facility for humans. That is, humans will not have to depend on a female of any male and female to have sex.



Just think that if everything goes like this, then what will be the sight of everything in the coming time.



The truth of the Terminator movie-



                 Terminator 1


                 Terminator 2


                 Terminator 3


                 Terminator 4


                 Terminator 5


The Terminator movie was made in 5 parts, initially it came in Part One, that is, Terminator Part One and Terminator Part One showed the complete game between humans and computer machines, how computer machines dominate humans. That thing has been shown and by eliminating humans, how the computer will rule in the future, this thing has been shown, then in that film, it has been tried to tell how much this computer made by humans is for humans. Is destructive. The robot machines that humans create based on AI will destroy them because somewhere to destroy humans, this computer is enough for AI based robot computerized machines.


These robots made by humans will become so much more effective that they will get their own command first, humans will create them by coding themselves, then those robots will make their own coding by doing automatic coding - which humans can understand. And in this way computers will overtake humans and finish them, and then nothing will be left to hear, it seems that all of this seems to be filmy or it seems that nothing will happen to humans, but according to which things will be ahead. Do you think that by seeing them increasing, humans will really rule in the next 200 years.


It is being talked about here at a very small level that if boiled to a extent, it is beneficial for health and it is tasty to drink, but if the tea is boiled too much then the nicotine can come out of it. It seems that which is very harmful for health, the same situation is there with the AI ​​machines of computers here. We should have built a robot computer based on AI but did not put so much features in it that it should eliminate the feature of humans.



Cyber ​​networked AI machine will be so much more dangerous that it is very difficult to guess at the moment, it is very much fun that what is the matter, all the work is being done by the machine nowadays, from bike assembling to car assembling , even Motherboard assembling machines of computers also work Has been given to only. 

And even though these machines are doing, this machine has started the work of replacing the human from somewhere and now people are not able to guess how widely it will take to replace the human. Or if some people are even guessing it, then they are not taking it serially, they are thinking this very lightly.


As far as I think, in the coming time, machines will show such a powerful effect on humans that they will kill humans by searching and chasing them because they will have such a good screener at that time to cover all the smallest places. We will also scan and easily target them and will uproot them like a target. Whether humans are in water or making their own system under the ground, AI based computers will become so smart in the coming times, they will search and chase humans and kill them because they will have such a tremendous tool and weapon system and Humans do not see any way to avoid this, only just helpless and helpless will remain.



Android mobile, drone and many other small things are at a very basic level right now, when its advance label captures the color, then what will happen? I know that most of the posts that most readers are reading will take all these things which have been said above and only the film style will consider it and leave it with a light weight as if it had no value. But believe me that if the transformer movie was shown and the Terminator movie which was shown, 

if both are mixed, then where is the existence of human being and it is not impossible to be so. It is not a big deal to convert in real form from what the Transformer movie shows. All this can be done very easily in the time ahead, even if things happen or wonder at this time, how will this all happen. But in future all these things will have no meaning, it will all look like a very simple work.



Our coding will fly in the air-


Html

JavaScript

Advanced Jaw

PHP

Python



This is all kinds of coding, due to which things like software are prepared. Right now we have the right to all these coding but in the coming time this coding will not be there because this coding will change. And all this will happen so slowly and comfortably and so cleanly that we will not even know. And there will come a time when we suddenly come to know that this coding which we had created is not working at all. At that time we will not have any control over coding and when we do not have control over coding, then how will we have control over the device made with that coding?


AI based robot machines will prepare their coding on their own and if seen in this way, they will start making their own, if seen in this way, then they will become their own destiny.


Transformer Plus Terminator-


Friends here, I would like to say once again that you can see both the Transformer movie and the Terminator movie together, that is, see the scene in such a way that both things are available and do not consider it imaginary


 See the truth in it.


Most people here will believe that this is a film, what does it have to do with the truth. Film is imaginary, most people will think of this kind of idea.



But believe me, if you mix both these movies (transformer 1,2,3,4+ terminator 1,2,3,4,5) and see the truth in nature then you will understand that if it really converts things right As shown in both films, then it is said that the existence of humans remains. That is, the existence of human beings in some other place very soon is very much in danger.



I know that 90% of the 100 people will consider it as a film drama but believe it, when this film drama is converted into real drama then the nerve of humans will break.


Who is the father of computer-


Charles Babbage, the father of computers, is considered. Charles Babbage was born in London. The official language of London is English, so the reason why none of the words were taken from English is that the technical words of the English language are based exclusively on the ancient Greek language and Latin language, so for a computer word i.e. for such a machine The word computer for the calculation was taken from the Latin language.


How Computer Works-


A computer requires both software and hardware to function properly. If said in direct language, both are complementary to each other. Without software the hardware is useless and without hardware the software is useless. That is why both things are said One is complementary to the other. With the help of software in the computer, the hardware is given the command how to work any hardware.


The computer only does what it is asked to do, that is, it works at the level of the command, which are already inserted inside the computer, they do not have the ability to understand the thinking inside the computer, the person who runs the computer is the user. And the person who makes programs for the computer is called a programmer.



But in the time to come, that is, if we talk about the AI ​​based robot computer of the future, then at that time both the user and the programmer will be the same, which will have nothing to do with humans. And its name will be AI based robot computer Skynet.



Computer parts names-


The processor

Mother board

Memory

hard disk

Modem

sound card

graphic card

The keyboard

The mouse

Keyboard mouse

Touchpad

Usb slot

Computer battery

On off switch

Condenser


Full form of computer-


C-commonly

O- operated

M-machine

P-particularly

U-used

T-technical

E-education

R-research



In the end, I would like to say that these computer based AI based robot machines should be used with great care because it is like a lamp like a lamp illuminates a house and that lamp can also burn a house. So it all depends on our maintenance and thinking how we want to use things.


Hope that you guys must have liked this post, if you like it, then you will not forget to share it.  💓💦



💕💖   चुकी यह आर्टिकल बहुत ही महत्वपूर्ण था इस वजह से इस आर्टिकल को इंग्लिश और हिंदी दोनों भाषा में लिखा गया है क्योंकि मैं भारत से हूं इस वजह से मैंने इसे हिंदी में भी लिखा है ताकि हमारे भारतवासी भी इसे आसानी से पढ़ सके. धन्यवाद   🌹💖



नमस्कार दोस्तों इस आर्टिकल में आपका स्वागत है इस आर्टिकल में जानेंगे हम कंप्यूटर फ्यूचर के बारे में. आप लोगों ने तो अधिकतर देखा होगा कि आजकल फिल्म खूब बन रही है खास करके रोबोट से रिलेटेड. और यह फिल्में कहीं न कहीं हमारे फ्यूचर से रिलेटेड है. तो इस आर्टिकल में उसी चीज को हम थोड़ा डीप लेवल पर जानेंगे .और यह भी जानेंगे इसके क्या फायदे हैं और क्या नुकसान. 


कंप्यूटर क्या है- 


 शुरू शुरू में जब लोहे और   टीने से यह डिवाइस जब बना था तो लोगों ने सोचा भी न था कि यह डिवाइस इतनी तरक्की करेगा. शुरू शुरू में इसे लोगों ने बहुत ही हल्का लिया था लेकिन आज देखिए यही हल्का चीज कितना भारी हो गया है. 

कंप्यूटर शब्द अंग्रेजी के कंप्यूटर वर्ड से बना है जिसका अर्थ होता है गणना करना. शुरू शुरू में इसका आविष्कार केवल कैलकुलेशन करने के लिए हुआ था और इस से ज्यादा कुछ भी नहीं इसमें सोचा गया था. 


लेकिन जैसे-जैसे समय बीतता गया इसमें थोड़ा - थोड़ा करके मॉडिफिकेशन आता गया और इसका यह परिणाम हुआ  कि आज का कंप्यूटर अत्यंत ही मॉडर्न और प्रभावशाली हो गया है. आजकल छोटे-छोटे कामों से लेकर बड़े बड़े कामों तक हर जगह केवल कंप्यूटर का ही प्रयोग किया जा रहा है. आज की दुनिया में कंप्यूटर किंग बन गया है. और इंसान उस किंग के गुलाम हैं नहीं है तो बन जाएंगे. और आपको तो पता ही होगा कि गुलामों की दशा बहुत बदतर होती है


सबसे खास बात यह है कि कंप्यूटर को इंसानों ने बनाया है और आज यह देखा जा रहा है कि इंसान खुद ही कंप्यूटर से  पिछड़ते जा रहे हैं यानी इंसान अपने ही द्वारा बनाई गई संरचना से खुद ही पिछड़े रहे हैं. सुनने मेंयह काफी हास्यप्रद बात लगती है लेकिन यह एकदम सत्य है ,इसमें कोई इधर-उधर की बात नहीं है. 


भविष्य का कंप्यूटर के उपयोग- 


जैसा कि हम ने बताया कि शुरू शुरू में कंप्यूटर का उपयोग केवल गणना करने के लिए बनाया गया था, लेकिन आज हालत यह है कि टमाटर, आलू, धनिया , कुकिंग , सोना - जागना हर चीज कंप्यूटर पर ही इंसान डिपेंड हो गया है. अगर इंसान आज के जमाने में आलसी है तो इसका सबसे बड़ा कारण कंप्यूटर ही है . कंप्यूटर ने इंसानों की इतनी ज्यादा फैसिलिटी प्रदान करती है कि वह दिन पर दिन आलसी और निकम्मे टाइप से होते जा रहे हैं. तू शुरू शुरू में इसे बनाया गया था केवल गणना करने के लिए लेकिन आप यह कुछ और ही काम कर रहा है .


आने वाले समय में कंप्यूटर इंसानों के इतना ज्यादा सुविधा प्रदान कर देगा कि उन्हें चलने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी क्योंकि मार्केट में आने वाले समय में यानी फ्यूचर कंप्यूटर की बात करें तो ऐसे ऐसे डिवाइस आने वाले हैं जो इंसानों को चलने में भी मदद करेंगे अर्थात अब इंसानों को पैदल चलने की कोई जरूरत नहीं पड़ेगी. क्योंकि मशीन उन्हें खुद ही चलाएंगे.


चलने की तो बात दूर छोड़िए भविष्य का कंप्यूटर इंसानों को खाना भी खिला देगा तथा सुलाने में भी मदद करेगा. यही नहीं अधिकतर यही माना जाता है कि इंसान को सेक्स  सबसे ज्यादा पसंद होती है तो आने वाले समय में कंप्यूटर इंसानों के लिए यह सुविधा भी प्रदान कर देगा . अर्थात इंसानों को सेक्स करने के लिए किसी हाड - मास वाली स्त्री पर डिपेंड नहीं करना होगा. 


जरा सोच कर देखिए कि अगर ऐसा ही सब कुछ चला तो आगे आने वाले समय में सब कुछ नजारा कैसा हो जाएगा.


टर्मिनेटर मूवी का सच- 



                 टर्मिनेटर  1 

                 टर्मिनेटर 2 

                 टर्मिनेटर 3 

                 टर्मिनेटर 4 

                 टर्मिनेटर 5 


तर्मिनेटर मूवी 5 पार्ट में बन कर आई थी शुरू शुरू में इसका पार्ट वन आया था यानी टर्मिनेटर पार्ट वन और टर्मिनेटर पार्ट वन में इंसानों और कंप्यूटर मशीन के बीच का पूरा खेल दिखाया गया है की कैसे कंप्यूटर मशीनें , इंसानों के ऊपर  हावी हो जाती है उस चीज को दिखाया गया है तथा इंसानों को खत्म करके कैसे आगे आने वाले समय में कंप्यूटर का राज होगा यह चीज दिखाया गया है तो उस फिल्म में बस यही बताने की कोशिश की गई है कि इंसानों के द्वारा बनाई गई यह कंप्यूटर इंसानों के लिए कितना विनाशकारी है . इंसान ने एआई पर आधारित जो रोबोट मशीनें तैयार करेंगे उसी से उनका विनाश हो जाएगा क्योंकि कहीं ना कहीं इंसानों को खत्म करने के लिए यह कंप्यूटर एआई आधारित रोबोट कंप्यूटराइज मशीनें काफी  है. 


इंसानों के द्वारा बनाए गए यह रोबोट इतना ज्यादा इफेक्टिव हो जाएंगे कि वे अपना कमांड खुद ही हासिल कर लेंगे पहले इंसान उनको खुद कोडिंग के द्वारा बनाएंगे फिर वह रोबोट मशीनें ऑटोमेटिक कोडिंग कर -कर अपना कोडिंग खुद तैयार कर लेंगे जिसे इंसानों को समझना उनके बस की बात नहीं होगी और इस तरह से कंप्यूटर इंसानों से आगे निकल कर उन्हें खत्म कर देंगे और फिर कुछ नहीं बचेगा सुनने में यह सब फिल्मी लगता है या यूं लगता है कि ऐसा कुछ नहीं होगा इंसानों का ही राज रहेगा लेकिन जिस हिसाब से चीजें  आगे बढ़ रही हैं उन्हें देखकर क्या आपको लगता है कि वाकई में आगे आने वाले 200 सालों में इंसानों का ही राज रहेगा. 


बहुत ही छोटे स्तर पर यहां बात किया जा रहा है कि अगर चाय को एक सीमा तक उबाला जाए तो वह स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होती है और पीने में भी टेस्टी लगती है लेकिन चाय को बहुत ही ज्यादा उबाल दिया जाए तो उसमें से निकोटीन निकले निकलने लगता है जो कि स्वास्थ्य के लिए काफी ज्यादा नुकसान दायक होता है वही हाल यहां पर कंप्यूटर की एआई मशीनों का है. हमें एआई पर आधारित रोबोट कंप्यूटर तो बनाना चाहिए था लेकिन उसमें इतनी ज्यादा फीचर्स नहीं डालनी थी कि वह इंसानों का ही फीचर खत्म कर दे. 



साइबर नेटवर्क किए एआई मशीन इतना ज्यादा खतरनाक होगी जिसका अंदाजा लगाना बहुत ही मुश्किल है इस समय तो खूब मजा आ रहा है कि वाह क्या बात है सारे काम मशीनी ही कर रही है आजकल तो बीके के असेंबलिंग से लेकर कार एसएमबिलिंग तक, यहां तक कि कंप्यूटर के मदरबोर्ड एसएमबिलिंग का भी काम मशीनों को ही दे दिया गया है . और यह मशीनें कर भी रही है तो कहीं ना कहीं से  यहमशीनें मानव को रिप्लेस करने का काम जो है वह शुरू कर दी है अब यह जो मानव को रिप्लेस करने का काम है यह आगे कितना व्यापक रूप लेगा इसका अंदाजा लोग नहीं लगा पा रहे हैं या कुछ लोग अगर इसका अंदाजा लगा भी ले रहे हैं तो उसको सीरियसली नहीं ले रहे हैं बहुत ही हल्के में इसी सोच रहे हैं. 


जहां तक मुझे ख्याल है कि आगे आने वाले समय में मशीनें इंसान पर इतना ज्यादा प्रभावशाली असर दिखाएंगे कि वे इंसानों को खोज - खोज कर और खदेड़ - खदेड़ कर मार देंगे क्योंकि उनके पास उस समय इतना अच्छा स्केनर होगा कि  तमाम छोटी से छोटी जगहों को भी  स्कैन कर लेंगे और आसानी से निशाना बनाकर उन्हें टारगेट की तरह को उखाड़ फेंक देंगे . चाहे इंसान पानी में रहे या जमीन के अंदर अपना व्यवस्था बना कर रहे आगे आने वाले समय में एआई बेस्ड कंप्यूटर इतनी स्मार्ट हो जाएंगे इंसानों को खोज - खोज कर खदेड़ - खदेड़ कर मार देंगे क्योंकि उनके पास इतना जबरदस्त टूल और हथियार की व्यवस्था होगी और इंसानों को इससे बचने का कोई भी उपाय नहीं नजर आ रहा होगा बस केवल लाचार और बेबस रहेंगे. 


एंड्राइड मोबाइल , ड्रोन और दूसरी बहुत सारी छोटी -बड़ी चीजें अभी बहुत ही बेसिक लेवल पर है जब इसका एडवांस लेबल कलर पकड़ेगा तो सोचिए क्या होगा ? मैं जानता हूं कि ज्यादातर पाठकगण  जो पोस्ट पढ़ रहे हैं वह सब यह सभी बातें जो ऊपर कही गई हैं बहुत ही मामूली लेंगे और केवल फिल्मी स्टाइल मैं इसे विचार करेंगे और एकदम हल्के में लेकर छोड़ देंगे जैसे इसका कोई मोल ही नहीं था. लेकिन यकीन मानिए कि ट्रांसफार्मर जो मूवी दिखाई थी और जो टर्मिनेटर मूवी दिखाई थी अगर दोनों को मिक्स कर दिया जाए तो फिर इंसान का वजूद कहां दिख रहा है और ऐसा  होना बिल्कुल असंभव भी नहीं है . ट्रांसफार्मर मूवी मैं जो दिखाता है उससे रियल रूप में कन्वर्ट करना कोई बहुत बड़ी बात नहीं है. यह सब आगे आने वाले समय में बहुत ही आसानी से किया जा सकेगा भले ही या चीजें इस समय आश्चर्य लगे कि अरे यह सब कैसे होगा. लेकिन भविष्य में इन सब बातों का कोई मतलब नहीं रह जाएगा यह सब बहुत ही साधारण काम की तरह दिखेगा. 


हमारी कोडिंग हवा में  उड़ जाएगी- 


एचटीएमएल 

जावास्क्रिप्ट 

एडवांस जवा 

पीएचपी 

पाइथन 


यह तमाम तरह की कोडिंग है जिसके बलबूते सॉफ्टवेयर जैसी चीजें तैयार होती है. फिलहाल इन सब कोडिंग पर हमारा हक है परंतु आगे आने वाले समय में यह  कोडिंग नहीं रहेगी क्योंकि यह कोडिंग   बदल जाएगी. और यह सब कुछ इतनी धीरे- धीरे और आराम से और इतनी सफाई से होगा कि हमें पता भी नहीं चलेगा. और एक समय ऐसा आएगा जब हमें अचानक से पता चलेगा कि अरे यह कोडिंग जो हमने बनाई थी वह तो काम ही नहीं कर रही है . उस समय कोडिंग पर हमारा कोई भी कंट्रोल नहीं होगा और जब कोडिंग पर हमारा कंट्रोल ही नहीं होगा तो उसको कोडिंग से बने डिवाइस पर हमारा कंट्रोल कैसे होगा ?

एआई बेस्ड रोबोट मशीनें खुद ही अपना कोडिंग तैयार कर लेंगे और इस तरह से देखा जाए तो वह खुद ही अपना निर्माण करने लगेंगे इस तरह से देखा जाए तो वह अपने भाग्य विधाता खुद ही बन जाएंगे. 


ट्रांसफार्मर प्लस टर्मिनेटर- 


दोस्तों यहां पर मैं एक बार फिर से कहना चाहूंगा कि आप ट्रांसफार्मर मूवी और टर्मिनेटर मूवी दोनों को मिलाकर देखें यानी सीन कुछ ऐसे ढंग से देखें कि दोनों चीजें अवेलेबल है और इसे काल्पनिक न मानकर 

 इसमें सत्यता को देखें . 


यहां पर ज्यादातर लोग यही मानेंगे कि यह तो फिल्म है इसका सत्यता से क्या लेना देना है. फिल्मी तो कल्पनिक होती है इसी तरह का विचार ज्यादातर लोग सोचेंगे . 


लेकिन यकीन मानिए अगर आप इन दोनों मूवीस  (ट्रांसफार्मर1,2,3,4+ टर्मिनेटर1,2,3,4,5 )  को मिलाकर नेचर में सत्यता को देखें फिर आपको समझ में आएगा कि वाकई में अगर यह चीजें सही में कन्वर्ट होती है जैसा  दोनों फिल्मों में दिखाया गया है तो  फिर इंसानों का वजूद बचता ही कहा है. यानी कहीं ना कहीं और बहुत ही जल्दी भविष्य में इंसानों का जो वजूद है वह बहुत ही ज्यादा खतरे में है. 


मैं जानता हूं कि 100 में से 90% लोग इसे फिल्मी ड्रामा ही मानेंगे लेकिन यकीन मानिए यही फिल्मी ड्रामा जब रियल ड्रामा में कन्वर्ट होगा तो इंसानों की नस टूट जाएगी. 



कंप्यूटर के जनक कौन है-  


कंप्यूटर का जनक चार्ल्स बैबेज को माना जाता है. चार्ल्स बैबेज का जन्म लंदन में हुआ था. लंदन की अधिकारिक भाषा अंग्रेजी है तो अंग्रेजी में से कोई शब्द क्यों ना लिया गया इसकी वजह यह है कि जो अंग्रेजी भाषा है उसके तकनीकी शब्द खासतौर पर प्राचीन ग्रीक भाषा और लैटिन भाषा पर आधारित हैं इसलिए कंप्यूटर शब्द के लिए यानी एक ऐसी मशीन के लिए जो गणना करती है उसके लिए लैटिन भाषा के शब्द कंप्यूटर को लिया गया. 


कंप्यूटर कैसे काम करता है- 



कंप्यूटर को ठीक से काम करने के लिए सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर दोनों की आवश्यकता होती है अगर सीधी भाषा में कहा जाए तो दोनों एक दूसरे के पूरक हैं .बिना सॉफ्टवेयर के हार्डवेयर बेकार है और बिना हार्डवेयर के सॉफ्टवेयर बेकार है इसीलिए कहा गया है कि दोनों चीजें एक दूसरे के पूरक है. कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर की मदद से हार्डवेयर को कमांड दी जाती है की किसी हार्डवेयर को कैसे कार्य करना है . 


कंप्यूटर केवल वही काम करता है जो उसे करने के लिए कहा जाता है यानी कमांड के लेवल पर यह काम करता है जो पहले से कंप्यूटर के अंदर डाले गए होते हैं उनके अंदर सोचने समझने की क्षमता नहीं होती है कंप्यूटर को जो व्यक्ति चलाता है उसे यूजर कहते हैं और जो व्यक्ति कंप्यूटर के लिए प्रोग्राम बनाता है उसे प्रोग्रामर कहा जाता है. 


लेकिन आगे आने वाले समय में यानी अगर भविष्य की एआई बेस्ड  रोबोट कंप्यूटर की बात करें तो उस समय यूजर और प्रोग्रामर दोनों एक ही होगा जिसका इंसानों से कुछ लेना-देना भी नहीं होगा. और उसका नाम होगा एआई बेस्ड रोबोट कंप्यूटर स्काइनेट. 


कंप्यूटर के भागों के नाम- 


प्रोसेसर 

मदर बोर्ड 

मेमोरी 

हार्ड डिस्क 

मॉडम 

साउंड कार्ड 

ग्राफिक कार्ड 

कीबोर्ड 

माउस 

कीबोर्ड माउस 

टचपैड 

यूएसबी स्लॉट 

कंप्यूटर बैटरी 

ऑन ऑफ स्विच 

कंडेनसर 


कंप्यूटर का फुल फॉर्म -


C- commonLY 

O- operated 

M- machine 

P- particularly 

U- used 

T- technical 

E- education 

R- research 



अंत में यही कहना चाहूंगा कि यह कंप्यूटर पर आधारित जो एआई बेस्ड रोबोट मशीनें हैं उनका उपयोग बड़ी संभाल कर करना चाहिए क्योंकि यह एक दीप की तरह है जैसे दीप किसी घर को रोशन भी करता है और वही दीप किसी घर को जला भी सकता है. तो यह सब कुछ हमारे रख-रखाव और सोच पर डिपेंड करता है कि हम चीजों को कैसे उपयोग में लाना चाहते हैं. 

आशा करते हैं कि यह पोस्ट जरूर आप लोगों को पसंद आया होगा अगर पसंद आता है तो इसे शेयर करना बिलकुल नहीं भूलिएगा .  ✨🎈😃❤💕🌹


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां