NEET 2021 / Doctor kaise bane /Kaise - Padhe/Time -Management Study हिंदी में

 पढ़ाई पढ़ने का एकदम मस्त  तरीका 


नमस्कार दोस्तों इस आर्टिकल में आपका स्वागत है इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि हम डॉक्टरी की परीक्षा पास करने के लिए कितना घंटा पढ़े कि हम उसे आसानी से crack कर सके. 




डॉक्टरी की परीक्षा (medical exam)  पास करने के लिए कड़ी मेहनत की जरूरत पड़ती है जब तक आप कड़ी मेहनत नहीं करेंगे तब तक आप को पास होने में बहुत ही दिक्कत का सामना करना पड़ेगा इसलिए आपको कड़ी मेहनत करनी चाहिए छात्र कड़ी मेहनत से कतराते हैं और वह चाहते हैं कि कोई शॉर्टकट तरीका हो जिसको करके आसानी से नीट एग्जामिनेशन ( neet examination) को क्लियर कर सकें. 


लेकिन उनको समझना चाहिए कि मेहनत का कोई शॉर्टकट नहीं होता है आप जितना ज्यादा मेहनत करते जाएंगे उतना ही ज्यादा आपको फायदा मिलता जाएगा. 



कैसे टाइम मैनेजमेंट करें- How to do time management-


टाइम मैनेजमेंट (time-management )  का ध्यान रखें . अगर आप मेहनत भी करते हैं लेकिन समय प्रबंधन ठीक नहीं है तो आप कोई सफल होने के चांसेस थोड़ा सा कम हो जाते हैं इसलिए टाइम मैनेजमेंट का ध्यान रखें . यह नहीं कि पढ़ाई लिखाई कम कर रहे हैं  और फालतू का इधर उधर ज्यादा कर रहे हैं फिर तो आपका सिलेक्शन होने से नहीं रहा. 



एक निश्चित टाइम इंटरवल पर क्वेश्चन को सॉल्व करने की कोशिश करें कहने का मतलब यह हुआ कि उस समय में आपको क्वेश्चन को हल कर लेना है अब ऐसा यहां नहीं कहा जा रहा है कि आपको यह तुरंत से कर लेना है लेकिन आपको ऐसी प्रैक्टिस करनी है कि आपको इस प्रकार की आदत हो जाए कितने टाइम इंटरवल में आप क्वेश्चन को कर लेंगे इससे फायदा यह होगा कि एक निश्चित समय अंतराल में आप बंध जाएंगे और फायदा यह होगा कि एग्जाम मैं जो  कोई भी प्रश्न आएगा उसको एक सही समय पर कर सकेंगे ताकि आपकी समय की बचत हो सकेगी और उस बचे हुए समय को और दूसरे क्वेश्चन पर लगा सकेंगे. 



कितना घंटा पढ़ना चाहिए- What hour should be read?



ज्यादातर छात्रों का यही क्वेश्चन होता है कि हमें NEET जैसी एग्जामिनेशन को पास करने के लिए कितना घंटा पढ़ाई करना चाहिए और कितना घंटा इसके लिए उपयुक्त होगा   ? 

तो इस प्रश्न का उत्तर भिन्न-भिन्न व्यक्तियों की के लिए भिन्न-भिन्न होगा . हर किसी की मानसिक और शारीरिक क्षमता अलग-अलग होती और उसी के अनुसार वो टाइम मैनेजमेंट करता है फिर भी अगर यह बेस्ट टाइम मैनेजमेंट की बात करें तो कम से कम एक व्यक्ति को जो कि  NEET को क्लियर करना चाहता है उसे कम से कम 8 से 10 घंटे सॉलिड पढ़ना चाहिए. 



अब यहां पर सॉलिड पढ़ना चाहिए क्या है ? सॉलिड पढ़ने का मतलब यह हुआ कि बहुत ही कंसंट्रेशन और एनर्जी के साथ पढ़ें. ऐसा नहीं कि बस मन केवल 8 घंटा पूरा करने में ही लगा हुआ है उसकी पढ़ाई में कोई क्वालिटी नहीं है इसलिए क्वांटिटी जो 8 घंटे की है उसको मेंटेन करने के बजाय आपको 8 घंटे की पढ़ाई में अपनी पढ़ाई की क्वालिटी को एक्टिव रखें. अर्थात क्वालिटी वाली पढ़ाई पढ़ें .



अगर आपको सुबह उठने की आदत है तो सुबह उठकर आप उन चीजों को पढ़ें जिन पर आपकी तैयारी अच्छी नहीं है, क्योंकि भले ही वह सब्जेक्ट आपको अच्छा लगे चाहे ना लगे लगे लेकिन आपको तो उसे पढ़ना पड़ेगा ही क्योंकि उसमें आपको नंबर प्राप्त करने हैं इसलिए उस सब्जेक्ट को ऐसे समय पढ़ें जब  आपके पास एनर्जी बहुत ही ज्यादा हो ताकि वह चीज आसानी से समझ में आ सके .


हर 2 घंटे बाद आंखें क्यों बंद कर लेनी चाहिए-  Why should you close your eyes after every 2 hours?



पढ़ाई - लिखाई के बीच मानसिक और शारीरिक आराम लेना भी बहुत ही जरूरी है. इससे आपका दिमाग भी बढ़ता है और पढ़ी लिखी हुई चीजें अच्छे से माइंड में स्टोर भी होती है. 


 ऐसा नहीं कि केवल गधे की तरह पढ़ते ही चले क्योंकि अगर आप पढ़ते चले जाएंगे तो माइंड का जो बैलेंस है वह बिगड़ जाता है इसलिए थोड़ा सा आराम (rest )  जरूर कर ले खास करके जब आप दो ढाई घंटे पढ़ ले तो थोड़ा सा आराम ले ताकि मानसिक और शारीरिक थकान दूर  हो सके . क्योंकि जब आप आराम करते हैं तो इस दौरान  शरीर में विशेष प्रकार के हार्मोन  निकलता है जो आपके शरीर को बैलेंस ( physical balance ) करता है  ताकि आप आगे की पढ़ाई जारी रख सकें. 



अब ऐसा नहीं कहा जा रहा है कि हर किसी को दो ही घंटे बाद आंखें बंद करनी है जब भी आपको लगे कि थकान जैसा हो रहा है और आराम की जरूरत है तो थोड़ा सा 10 या 15 मिनट या 20 मिनट आराम कर ले फिर पढ़ाई शुरू करें इससे क्या होगा कि अच्छा बैलेंस आप खुद में तथा  स्टडी के बीच में स्थापित कर सकेंगे. 



दूसरों की नकल अकल लगाकर करें-Copy others with wisdom 


 नकल करना अलग चीज होती है और चोरी करना अलग होता है . नकल में आप दूसरों का अकल चुराते हैं जोकि सही है . आप किसी ऐसे व्यक्ति का नकल ना करें जिसके अंदर सारी चीजें लगभग गलत ही हो. अतः अच्छी चीजों का ही आप नकल करें अगर कोई इंसान खराब है लेकिन उसमें कुछ अच्छी चीजें हैं तो उस अच्छी चीजों को आप सीखने की कोशिश करें अब चाहे इसे आप नकल का नाम दे या यह कहे कि आप इसे सीख रहे हैं दोनों एक ही बात है. बस मात्र शब्दों का हेरफेर है.



पढ़ाई के दौरान जब नींद ना आए तो क्या नींद रात होनी चाहिए-Have a nice day, read other similar articles too 


 छात्र जीवन में अधिकतर लोगों को इस बात का भ्रम रहता है कि पढ़ाई के दौरान उन्हें नींद बहुत आती है तो उन्हें नींद तोड़नी चाहिए ? यहां पर  तो मेरा यही सुझाव है कि पढ़ाई के दौरान अगर आपको नींद आती है तो आप नींद ले क्योंकि नींद तोड़ने से बहुत ही परेशानी होती है इससे हार्मोन प्रॉब्लम्स भी होता है और हरमल प्रॉब्लम होने से आपके शरीर का क्षय  होता है शरीर क्षय होने से आपका मानसिक क्षय भी होता है और इस तरह के क्षय होने से आप अपने आप को बैलेंस नहीं रख पाएंगे और जब आप अपने आपको बैलेंस नहीं रख पाएंगे तो आप स्टडी अच्छे से नहीं कर पाएंगे और अगर पढ़ाई ही नहीं अच्छे से कर पाएंगे तो नीट की परीक्षा कैसे पास कर पाएंगे ? 


अतः नींद लेना बहुत ही जरूरी है , कोई व्यक्ति 6 घंटे नींद लेता है, कोई व्यक्ति 7 घंटे नींद लेता है, तो कोई व्यक्ति 8 घंटे नींद लेता है और कोई कोई तो 9 से 10 घंटे का भी नींद लेता है , और इसमें किसी भी तरह का कोई  भी बुराई नहीं है . क्योंकि हर किसी की शारीरिक बनावट और मानसिक बनावट अलग-अलग होती है जैसा कि हमने पहले ही बता दिया है. 

अब 6 घंटे की नींद लेने वाला 9 घंटे की नींद लेने वाले छात्रों को अलसी बताता है जिससे कि 9 घंटे की नींद लेने वाला वह छात्र तनाव में आ जाता है एक तरह से देखा जाए तो 6 घंटे की नींद लेने वाला वह छात्र 9 घंटे की नींद लेने वाले उस छात्र पर मानसिक अत्याचार करता है जो कि उसे नहीं करना चाहिए वैसे समझदारी यही है कि आप किसी के बहकावे में ना आएं. और जितनी नींद आपको आवश्यक हो उतना जरूर जरूर से ले .



इसलिए अगर आपको नींद आती है तो नींद लें और नींद आने के बाद पढ़ाई करें अगर कोई कोई हर किसी की पर्सनल अलग होती है इसी को 6 घंटे किसी को 9 घंटे यह नहीं है कि वह एक रोल बनाने की 6 घंटा सोना है सर कुछ नहीं है आप अपने मानसिक और शारीरिक क्षमता के अनुसार नींद ले कोई दिक्कत नहीं हर किसी की नींद अलग-अलग होती इतना नहीं तो लेना ही चाहिए. 



इस आर्टिकल में अपना बहुमूल्य समय देने के लिए आप लोगों का बहुत ही बहुत धन्यवाद करियर से जुड़ी जानकारी पाने के लिए आप हमारी साइट पर विजिट करते रहें ताकि आपको इसी तरह की मनचाही ज्ञान मिलती रहे कई बार यह देखा गया है कि छात्र  आर्टिकल पढ़ लेते हैं और फिर साइट पर visit ही नहीं कर पाते जिससे उनको समुचित ज्ञान मिल ही नहीं पाता है , इसलिए साइट के सारे आर्टिकल study कर डालें जिससे आपको ज्यादा से ज्यादा फायदा मिल सके .हमारा यह साइट केवल छात्र बंधुओं के लिए है तथा दूसरे अन्य भारतीय लोगों के लिए है. 

नमस्कार 🌹🌹🌹

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ