10वी के बाद प्यार के चक्कर में ना पड़े क्योकि इसका खतरा करोना वायरस (CORONA-VIRUS)से भी ज्यादा hai

LOVE  vs  STUDY vs SUCCESS
 (एकबार अंत तक जरूर पढ़े तो  बहुत कुछ सीखेंगे )

सवीं के बाद पढ़ाई पर जोर दें ना कि प्यार के चक्कर में पड़े, ज्यादातर यह देखा गया है कि अधिकतर छात्र दसवीं की परीक्षा पास करने के बाद आगे पढ़ाई करने के बजाय प्यार के चक्कर में फस जाते हैं, और ऐसा केवल छात्रों के साथ ही नहीं होता बल्कि छात्राओं के साथ भी होता है.

10वी के बाद  प्यार के चक्कर में ना पड़े क्योकि इसका  खतरा करोना वायरस (CORONA-VIRUS)से भी ज्यादा hai
LOVE  vs  STUDY vs SUCCESS


अगर दसवीं की परीक्षा पास कर चुके हैं तो उसके साथ-साथ आप IIT की तैयारी कर सकते हैं नीट (NEET )जैसे मेडिकल एग्जाम की तैयारी कर सकते हैं और दूसरे बहुत सारे एग्जाम की तैयारी कर सकते हैं, और अधिकतर यह देखा गया कि ज्यादातर छात्र इन सब चीजों में इंटरेस्ट लेने के बजाय प्यार और भावना में इंटरेस्ट लेने लगते हैं वैसे तो यह सब चीजें ऑटोमेटिक भी होती हैं लेकिन कुछ जानबूझकर भी होती हैं या यूं कहें कि ऑटोमेटिक भी होता है और प्लस जानबूझकर भी होता है यानी दोनों इफेक्ट होता है.


प्यार एक इमोशनल प्रोसेस (emotional process) है अगर केमिस्ट्री के भाषा में समझे तो  यह केमिकल प्रोसेस भी है जो समय के साथ होता ही है, लेकिन इन सब चीजों के सहारे जिंदगी का ग्राफ आगे नहीं बढ़ता, 100 में से 98% लोग जो प्यार करते हैं दसवीं के बाद वह ज्यादातर फेल हो जाते हैं जहां तक प्रोग्रेस रेट की बात है, जो लोग पास भी होते हैं उनका रिजल्ट उस तरह से नहीं होता है जैसा होना चाहिए. तो कुल मिला जुलाकर यह प्यार और मोहब्बत केवल टांग खींचता है और सफलता से आपको दूर ले जाता है,


जितना मनोभाव से आप प्यार करेंगे उतनी ही मनोभाव से आप अपनी सफलता के ग्राफ से दूर होते जाएंगे. याद रखेगा यह आगे आपको प्यार मोहब्बत काम उतना नहीं आता जितना आपकी पढ़ाई काम आएगी खासकर  25 साल तक . इन 25 सालों के अंदर आपको इस्टैबलिश्ड कर लेना होता है अपने आपको .

ताकि आपको जिंदगी में कभी किसी प्रकार का कोई आर्थिक समस्या ( Economic problem) का सामना ना करना पड़े. लेकिन दसवीं के बाद ज्यादातर छात्र रिलैक्स मूड में आ जाते हैं क्योंकि दसवीं में उन्होंने बोर्ड एग्जाम में काफी मेहनत की होती है और उसकी थकावट दूर करने के लिए एक ऑटोमेटिक रास्ता चुनते हैं प्यार और मोहब्बत का. जो वास्तव में एक जंग की तरह काम करता है जैसे जंग धीरे-धीरे लोहे को खा जाता है ठीक उसी तरहयह प्यार मोहब्बत आपको धीरे-धीरे आपकी पढ़ाई और ढेर सारी आपकी स्किल्स को खा जाता है और कम कर देता है.


लोहे का जंग लोहे से ही पैदा होता है और लोहे को ही खा जाता है इसी तरह प्यार और मोहब्बत हमारे मन के भाव में ही आता है और हमारे मन की स्किल्स को ही खा जाता है.


यह सब चीजें वास्तव में उतनी बुरी नहीं है जितना आप के ऊपर पढ़कर लगेगा लेकिन समय का भी कोई मोल होता है जब समय युद्ध का है वह समय प्यार मोहब्बत में खो जाना मूर्खता के सिवा कुछ और ज्यादा नहीं है लेकिन ज्यादातर लोग भावनाओं में बहकर यह मूर्खता करते हैं और जो दूरी तय करनी चाहिए सफलता की वह नहीं कर पाते हैं  और  छोटी मोटी ही सफलता पाकर ही  खुश हो जाते हैं.

प्यार मोहब्बत का भी एक समय होता है वह  सही समय आने पर ही एक्सप्रेस करें या एक्सप्रेस होने दें. अपने आपको पहले अच्छी तरह से इस्टैबलिश्ड कर ले फिर प्यार मोहब्बत और भावना के चक्कर में पड़े. ताकि आगे कोई खतरा न रहे.

FILMY Effect-

ज्यादातर युवा आजकल फिल्म की स्टाइल देखकर उसी के अनुसार आचरण करते हैं या अपने अगल-बगल के लोगों को देखकर वही स्टाइल फॉलो करते हैं तो यह सब ना करें.
क्योंकि इससे शिवा नुकसान के आपको कुछ नहीं मिलेगा .
सही रास्ते पर चलने की कोशिश करें.

Love Last Word-

 जो  सही चीज है उसके ऊपर चलने चलने में थोड़ा सा खराब लगेगा लेकिन इसका असली मजा और असली फल आपको कुछ समय बाद ही समझ में आएगा.


 चिकना  रास्ता और बुराई का रास्ता चलने में बड़ी मजा देता है बहुत आनंद देता है लेकिन इसका रिजल्ट बहुत संतोषजनक नहीं रहता है या यूं कहें कि कभी-कभार यह अपना बहुत ही खराब और भयावह रूप धारण कर लेता है . 

Post a Comment

1 Comments

Emoji
(y)
:)
:(
hihi
:-)
:D
=D
:-d
;(
;-(
@-)
:P
:o
:>)
(o)
:p
(p)
:-s
(m)
8-)
:-t
:-b
b-(
:-#
=p~
x-)
(k)