10 वी के बाद 12th पास करके Masters In Footwear Designing And Production Courses Diploma In Hindi (हिंदी में )

Footwear Designing And Production Courses


इसमें कोई दो राय नहीं कि ड्रेस की तरह फुटवियर को लेकर भी अब लोग  अब बहुत अधिक जागरूक हो गए हैं. यही कारण है कि एक ओर जहां फुटवियर के एक से बढ़कर एक डिजाइन बाजार में देखने को मिल रहे हैं, तैयार करने वाले फुटवियर स्टाइलिस्टओ की मांग भी  दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है है कि भारत फुटवियर निर्माण में चीन के बाद दूसरे स्थान पर आता है वर्तमान में भारतीय फुटवियर उद्योग तीव्र गति से प्रगति कर रहा है  और आने वाले कुछ वर्षों में 20 से 30% की वार्षिक दर के साथ विकास करने की दिशा में अग्रसर होगा
भारत में लगभग 80 मिलियन जोड़ी जूतों का बाजार है अब जबकि फैशन एसेसरीज मार्केट के केंद्र में आ गए हैं तो आने वाले दशकों में भारतीय फुटवियर इंडस्ट्री में तीव्र वृद्धि  के कयास लगाएं जा रहे हैं
इस स्थिति में स्किल्ड फुटवियर स्टाइलिस्टओ की मांग काफी तेजी से बढ़ना तय है

प्रोफेशनल टच की जरूरत
यकीनन फुटवियर्स ने परंपरागत मोची की दुकानों से  माल तक का बहुत लंबा सफर तय किया है और आज एक फैशन स्टेटमेंट बन चुके है
अपनी इमेज के प्रति जागरूक लोगों को प्राथमिकताओं में आ जाने से फुटवियर की डिजाइनिंग और मार्केटिंग में एक प्रोफेशनल टच की जरूरत सामने आई है,
इसके साथ ही सामने आया है खूबसूरती और यूटिलिटी के बैलेंस का लुभावना फुटवियर स्टाइलिंग का करियर.
क्वालिटी एवं डिजाइनिंग अब क्षेत्र की मुख्य आवश्यकता बन गई है. गौरतलब है कि फुटवियर स्टाइलिस्ट विशेष प्रकार के सूट डिजाइनर होते हैं.



Footwear Stylist  बनने के लिए फैशन में रुचि रखना तथा जूतों के प्रति अनुराग आवश्यक है फुटवियर स्टाइलिस्ट डिजाइनर के रूप में काम करते हैं जहां टेक्निकल  डिजाइनर, पेटर्न मेकिंग कटिंग और डिजाइनिंग का काम करते हैं वहीं फुटवियर स्टाइलिस्ट डिजाइन ,फैशन  ,लेटेस्ट ट्रेंड के अनुसार फुटवियर की यूनिक लुक और स्टाइल अपील पर  काम करते हैं क्योंकि फुटवियर स्टाइलिंग बेहद क्रिएटिव क्षेत्र है इसलिए इसके लिए ड्राइंग कौशल महत्वपूर्ण होता है फुटवियर Styling को सभी डिजाइन  कैरियर में तकनीकी दर्जा प्रदान किया गया है
इसकी शुरुआती  रेखांकन की योजनाएं एवं पैमाना ड्राइंग में डिजाइनों के निर्माण के साथ होती है. इसके उपरांत पैटर्न प्रोटो टाइप किए सृजन और कार्यकर्ता तथा सुंदर वृद्धि के लिए कार्य किया जाता है.  यह चमड़े, कैनवास, लकड़ी, प्लास्टिक, पटसन, मेटल्स आदि के साथ किया जा सकता है निर्मित फुटवियर की फिटिंग परफेक्ट होनी चाहिए इसमें बदलाव की कोई संभावना नहीं होती है. इसके साथ ही आरामदायक. सुरक्षा तथा गुणवत्ता मापदंड भी उतने ही महत्वपूर्ण होते हैं. स्टाइलिस्ट सोल, हिल, क्रीम और इस  स्टाइलिंग से फुटवियर में नई  स्टाइलिंग के सृजन में विशेषज्ञ होते हैं
फुटवियर Stylist  निम्न बातों का भी जानकार होता है
जैसे फैशन, रुझान आग, पैरों की संरचना, जूते के निर्माण का तकनीकी अनुभव, मैन्युफैक्चरिंग का अनुभव इत्यादि .

प्रमुख कोर्स इस प्रकार से   है
  फुटवियर स्टाइलिंग तथा फुटवियर डिजाइनिंग से जुड़े अनेक पाठ्यक्रम देश में उपलब्ध है

दसवीं कक्षा उत्तीर्ण छात्र फुटवियर स्टाइलिंग से जुड़े लघु अवधि के कोर्स कर सकते हैं इस प्रकार के कोर्स प्रमाणपत्र पाठ्यक्रम कहलाते हैं  फुटवियर स्टाइलिंग के पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए किसी भी विषय में  स्नातक होना आवश्यक है फुटवियर इंजरिंग पाठ्यक्रम की बी टेक ओरियंट Course  होते हैं,  इन पाठ्यक्रमों में विज्ञान विषयों के छात्र प्रवेश ले सकते हैं , बीटेक  पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए 12वीं परीक्षा को फिजिक्स ,केमिस्ट्री और मैथ से पास होनी होगी
  एमटेक में प्रवेश लेने के लिए बीटेक की डिग्री आवश्यक है  फुटवियर स्टाइलिंग के डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश लेने के लिए 12 वीं पास होना भी जरूरी है। 



  Generaly   सभी सिलेबस में प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा को क्लियर करना पड़ता है। Footwear स्टाइलिस्ट बनने के लिए आपके पास   उपयुक्त डिग्री होना आवश्यक है। डिजाइन तथा तकनीकी कौशल के अध्ययन से जुड़ी डिग्री फुटवियर इंडस्ट्री में आपको कार्य करने के लिए आवश्यक व्यवहारिक ज्ञान प्रदान करें वाणिज्य मंत्रालय के तहत फुटवियर डिजाइन एवं डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट नोएडा इस क्षेत्र में कई कोर्स चला रहा है जिस की न्यूनतम योग्यता 12वीं पास है। चाहे तो इसमें जाकर एडमिशन ले सकते हैं।

आवश्यक क्षमता


  हर उपभोक्ता की आवश्यकता को पहचानना ही इस क्षेत्र का चैलेंज है
टेक्निकल स्किल आपको बहुत आगे ले जा सकती है कल्पनाशीलता और कल्पना को आकार देने की स्किल जो है वह आपके कैरियर को बहुत आगे ले जा सकती है  फुटवियर स्टाइलिंग कोर्स करने के बाद आप  20000 से ₹50000 प्रति महीना अवश्य कमा लेंगे

इस क्षेत्र में प्रमुख रोजगार के क्षेत्र इस प्रकार से है
फुटवियर स्टाइलिस्ट, फुटवियर डिजाइन, उत्पाद डेवलपर, योजना एग्जीक्यूटिव, इत्यादि क्षेत्रों में जाकर आप अच्छी कमाई कर सकते हैं  आज इस क्षेत्र में रीबॉक,  बाटा, एडीडास, लखानी, रेड चीफ, वुडलैंड, लिबर्टी और बहुत सी अंतरराष्ट्रीय कंपनियां हैं जो कि अच्छा खासा पैकेज दे रही हैं प्लेसमेंट भी दे रही है चा अपना स्वयं का भी रोजगार प्रारंभ कर सकते हैं




Post a Comment

0 Comments