MBBS Doctor kaise bane / NEET-Physics / NEET- Math


यदि आपको डॉक्टर बनना और आप चाहते हैं कि जल्द से जल्द आप डॉक्टर बन जाए तू या आर्टिकल शुरू से लेकर अंत तक पढ़ते रहिएगा ताकि जानकारी का कोई भी हिस्सा छूट न जाए. क्योंकि एक छोटी सी भूल आपका जिंदगी बना भी सकती है और बिगाड़ भी सकती है . इसलिए छोटी-छोटी बातों को आप नजरअंदाज मत करते रहिएगा और कोशिश यही करिएगा की पूरा पोस्ट पर डालें क्योंकि यह आपके भविष्य का सवाल है.

MBBS Doctor kaise bane / NEET-Physics / NEET- Math

How To Be a MBBS Doctor

डॉक्टर बनने के लिए सबसे जरूरी चीज है पढ़ाई यदि आप पढ़ने की इच्छा रखते हैं और पढ़ाई में इंटरेस्ट भी रखते हैं तो आपको सफल होने से कोई भी नहीं रोक सकता है. हॉट वर्क तो आपको करना ही पड़ेगा , और केवल हार्ड वर्क ही नहीं बल्कि हार्ड वर्क विद स्मार्टली आपको काम करना पड़ेगा . तभी आपको मनचाहा रिजल्ट मिलेगा.
एक डॉक्टर बनने के लिए जो सबसे पहली समस्या आती है वह है फिजिक्स की. डॉक्टर बनने के लिए जो मिनिमम क्वालीफिकेशन निर्धारित की गई है वह है फिजिक्स , केमिस्ट्री और बायो . कहने का मतलब यह हुआ कि आपका 12th मे यह सभी सब्जेक्ट होना चाहिए . तभी जाकर आप NEET के लिए अप्लाई कर सकते हैं .
ज्यादातर जो लड़के हैं वह केमिस्ट्री और बायो को तो आसानी से हैंडल कर लेते हैं , लेकिन फिजिक्स को हैंडल करना उनके लिए टेढ़ी खीर बन जाते है . क्यों PHYSICS एक ऐसा सब्जेक्ट है जिनमें मैथ शामिल होता है , और MATH बायो स्ट्रीम वालों का अच्छा नहीं होता है .. इसी वजह से ज्यादातर छात्रों की रैंकिंग खराब हो जाती है. क्योंकि वे फिजिक्स में ज्यादा कुछ अच्छा नहीं कर पाते है.

Physics for NEET- अगर आपको डॉक्टर बनना है अपना फिजिक्स अच्छा करना ही पड़ेगा. फिजिक्स अच्छा करने का सबसे अच्छा उपाय यह है कि, आप की दसवीं , ग्यारहवीं और बारहवीं की मैथ पर अच्छी पकड़ होनी चाहिए . दसवीं का पूरा मैथ आप अच्छी तरह से लगा ले . और 11 वीं 12 वीं के मैथ में आप कुछ आधा जानकारी आप जरूर रख ले, जैसे कि अलजेब्रा का 50% मैथमेटिकल क्वेश्चन जरूर जरूर से सॉल्व कर ले, TRIGNOMETRY की अच्छी पकड़ बना ले. और कैलकुलस को तो पूरा 100 परसेंट हल करें . अर्थात मैथ कैलकुलस कि किताब को पूरा का पूरा लगा डाली . यही नहीं कैलकुलस की जो IIT लेवल की जो मैच है उसे भी सॉल्व कर लो क्योंकि इससे आपको बहुत ज्यादा फायदा मिल जाएगा .
फिजिक्स के क्वेश्चन में मैथ जो होता है वो डायरेक्टली नहीं पूछा जाता है बल्कि फिजिक्स के क्वेश्चन में मैथ ऑटोमेटिक चला आ जाता है , जिसे सॉल्व करना उन छात्रों के लिए कठिन हो जाता है जिनकी मैथ पर पकड़ अच्छी नहीं होती है.

Conclusion -अगर आप बताए गए उपरोक्त तरीके को फॉलो करेंगे तो आप मैथ में अच्छी खासी पकड़ बनाते हुए अपनी फिजिक्स की समस्या को जरूर जरूर से दूर कर लोगे . और नीट जैसे परीक्षा में एक अच्छा रैंक हासिल करेंगे, और अपना डॉक्टर बनने का सपना पूर्णता पूरा कर लेंगे आसानी के साथ.
आशा करता हूं कि यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा, कैरियर से जुड़ी जानकारी पाने के लिए, हमारी इस ऑफिसियल वेबसाइट पर लगातार विजिट करते हैं , इस पोस्ट को जरूर जरूर से शेयर करें व्हाट्सएप , फेसबुक टि्वटर , इंस्टाग्राम और सभी जगहों पर , ताकि यह इंफॉर्मेशन सबके पास पहुंच जाए l

Post a Comment

0 Comments