दसवीं के बाद success tricks for exam and success of life

नमस्कार दोस्तों आर्टिकल में आपका स्वागत है, इस आर्टिकल में जानेंगे की हमें जल्दी से जल्दी सफलता प्राप्त करने के लिए क्या करना चाहिए. ऐसे कौन से तरीके हैं जिन्हें अपनाने से हम जल्दी से जल्दी सफल हो सकते है और अपना सुंदर भविष्य आगे बना सकते हैं , सफलता किसी भी छात्र के लिए बहुत ही जरूरी होती है ,क्योंकि अगर सफलता नहीं मिलती है या देरी से मिलती है तो छात्र उदास हो जाते हैं , और ऐसे छात्र ना अपना भविष्य खुद बना पाते हैं अपने जुड़े लोगो के साथ कुछ अच्छा कर पाते हैं. क्योंकि देखिए कलयुग है कलयुग में कोई यह नहीं देखता है कि आप कितने दिमाग के हैं, कलयुग में बस हर कोई सफलता को देखता है ,धन को देखता है, कहने का मतलब यही हुआ कि अगर आप सफल है तो आप के साथ सभी लोग होंगे. सफल है तो आपको कोई नहीं
success tricks for exam and success of life

सफलता क्या है- अगर यह कहा जाए कि सफलता क्या है तो यह कोई बड़ी बात नहीं होगी. क्योंकि हम में से ज्यादातर लोग इसका मतलब समझते ही हैं. आपने अपनी जिंदगी में जो टारगेट बनाया उस टारगेट को हासिल करने के लिए आपने अपनी जो ऊर्जा लगाई, जो शक्ति लगाई वह सफलता की एक प्रक्रिया है, यह प्रक्रिया जब पूरी हो जाती है , तब आप अपनी मंजिल की तरफ पहुंच जाते हैं और अपना टारगेट हासिल कर लेते हैं. मंजिल की तरफ आप जब पूरी तरह पहुंच जाते हैं थे टारगेट आपको अपने से मिल जाता है. और यह टारगेट अंत में प्राप्त करना ही सफलता का एक उदाहरण प्रस्तुत करता है. कितने लोग ऐसे भी होते हैं जो कि सफलता के प्रोसेस में ही अपने आप को हटा लेते हैं और मंजिल तक नहीं पहुंच पाते हैं, कुछ लोग सफलता के प्रोसेस को बीच रास्ते में छोड़ते हैं, कुछ तो शुरुआत में ही छोड़ देते हैं, कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो सफलता के प्रोसेस को ठीक अंत से पहले छोड़ते है, वे लोग क्यों छोड़ते हैं इसका उत्तर हर इंसान के लिए अलग अलग होता है. शायद कुछ लोगों की हिम्मत जवाब दे जाती है, कुछ लोग की जिंदगी में भी विवशता आ जाती है इस वजह से वह लोग छोड़ देते हैं
कुछ लोग उस टारगेट को छोड़कर अपना दूसरा टारगेट बनाना पसंद कर लेते हैं , कुछ लोगों का परिवारिक कारण होता है , कुछ लोगों में इच्छाशक्ति की कमी हो जाती है यह भी एक कारण होता है जिसके कारण छात्र सफल नहीं हो पाते हैं , कुछ लोगों का करण शादी भी होता है , कुछ लोगों का कारण बीमारी भी होती है, और कुछ लोगों का कारण धन का अभाव भी होता है . कुछ लोगों का कारण गलत संगति हो जाती है, कुछ लोगों का कारण नशे की ओर उन्मुख करने की वजह से होता है , कुछ लोगों का कारण बुराई के रास्ते पर निकल जाने की वजह से होता है तू इस तरह के तमाम कारण होते हैं जिनकी वजह से छात्र लोग अपनी सफलता की गाड़ी को मंजिल तक नहीं खींच पाते है . वास्तव में सफलता का टारगेट खींच देना बड़ी आसान काम है लेकिन टारगेट तक पहुंच कर उसे पाना अत्यंत ही जटिल प्रक्रिया है
अब उपयुक्त कारणों को हम यहां पर डिटेल में देखेंगे बारी बारी से
success tricks for exam and success of life

परिवारिक कारण- ज्यादातर छात्र अपनी मंजिल तक इस वजह से नहीं पहुंच पाते हैं उनके घरों में परिवारिक समस्या बहुत ज्यादा रहती है, और इस समस्या को वह झेल नहीं पाते जिसकी वजह से भी अपना मंजिल हासिल करने से दूर रह जाते हैं, परिवारिक समस्या में कई प्रकार की समस्याएं होती है, जिन्हें वाकई में समझना बहुत ही कठिन होता है. कुछ परिवारिकसमस्याएं तो वाकई में समस्या की तरह होती है , जिनसे बाहर हो जाना वाकई में किसी छात्र के लिए अत्यंत ही मुश्किल का काम होता है . कुछ कुछ परिवारिक बाधाएं मीडियम लेवल की होती है जीने में आसानी से हैंडल कर सकते हैं, और कुछ परिवारिक बधाई लो लेवल की होती है जिनको हैंडल करने में खाना पड़ता है .
खैर परिवारिक बाधाएं चाहे जो भी हो चाहे वह लो लेवल की हो, मीडियम लेवल की हो, या फिर अपन लेवल की इसे हाई लेवल भी करते हैं. आपको उनका सामना करना ही पड़ेगा. इस बाधा को पार करके ही आप अपनी मंजिल के रास्ते में आ सकते हैं और फिर उस रास्ते पर चल कर अपना मंजिल पा सकते हैं.
अगर इंसान अपने परिवारिक कारण का रोना रोने लगे, तू वह फिर उसी में उलझ जाएगा, और फिर वह उस बंधन से आगे जा ही नहीं पाएगा, जिससे वह अपना मंजिल कभी पा ही नहीं सकेगा, और मात्र एक साधारण सी उलझन भरी जिंदगी जी सकेगा. इसलिए अगर कोई पाठक मित्र बंधु इस पोस्ट को पढ़ रहे हैं तू इतना याद रखे की यदि आप फिट रहेंगे तभी आप अपने परिवार को फिट रख सकेंगे. इसलिए हमेशा आगे बढ़ने की कोशिश करते रहे चाहे जितना भी मुश्किल है आपके जीवन में .



इच्छा शक्ति का अभाव- ज्यादातर यह देखा गया है कि छात्रों में इच्छाशक्ति का अभाव होता है जिसके कारण वे सफलता को प्राप्त करने में अक्षम हो जाते है. इच्छाशक्ति का अभाव उन्हे ज्यादा कुछ नहीं करने देता है वे परिस्थितियों से लड़ने में अपने आप को असहाय महसूस करते हैं. और जिंदगी में जरा सा कठिनाई आने पर वे अपना दम तोड़ने लगते हैं . और अंततः हार मानकर हथियार डाल देते हैं . और पराजय को स्वीकार कर लेते हैं .
अतः अगर जिंदगी में आगे बढ़ना है तो आपको अपना इच्छाशक्ति बढ़ाना होगा, ज्यादा से ज्यादा समय पढ़ाई पर लगाएं, मन करे फिर भी आप पढ़ाई करते रहे, ताकि इच्छा शक्ति का विकास हो सके , इच्छा शक्ति का विकास 1 दिन में संभव नहीं है, इसके लिए आपको प्रत्येक दिन अनवरत प्रयास करना होगा , तब जाकर आप में पूर्ण इच्छा शक्ति का विकास आएगा और आप सफलता को प्राप्त होंगे
शादी का कारण- शादी भी एक कारण होता है इसके कारण कुछ छात्र सफल नहीं हो पाते है, खैर
इसमें दो मत माना जाता है , कुछ लोग शादी करने के बाद सफल हो जाते हैं और कुछ लोग असफल हो जाते हैं, तो यह व्यक्ति विशेष के मनोप्रवृत्ति और उसके दिमाग के सेटअप पर डिपेंड करता है. वैसे ज्यादातर यही देखा गया है कि शादी करने के बाद सक्सेस ग्राफ डाउन हो जाता है, शादी के बाद सफल होने की संभावना मात्र 30% रहती है वही असफल होने की संभावना 70 परसेंट तक बढ़ जाती है.

बीमारी का कारण- कुछ लोग अपनी जिंदगी में इस वजह से असफल हो जाते हैं क्योंकि वह बार-बार बीमार रहते हैं , उनके बार बार और स्वस्थ होने के कारण उन्हें मानसिक कमजोरी होती है, और शारीरिक कमजोरी भी होती है, जिसका खामियाजा उन्हें असफलता के रूप में भोगना पड़ता है, जब कोई व्यक्ति शारीरिक रूप से मानसिक रूप से बीमार होता है तो वह कोई भी काम मन लगाकर नहीं कर सकता, और जब किसी काम में मन का पूर्णता योग नहीं होता है तो वह काम अच्छी तरह से नहीं होता है, और जब काम अच्छी तरह से नहीं होता है तो अच्छा की अपेक्षा करना मूर्खता का काम है
धन का अभाव होना- कुछ लोग अपनी जिंदगी में इस वजह से असफल हो जाते हैं कि उन्हें धन का अभाव होता है, धन का अभाव अच्छे -अच्छे लोगों को होता है , अपने भारत में तो धन का अभाव ज्यादा है, भारत में 60 से लेकर 70% तक लोग गरीब है, उसमें भी काफी वैरायटी है, 30 परसेंट लोग तो खुद ही ज्यादा गरीब है, उन्हें खाने के दो टाइम का खाना भी ठीक से नहीं मिलता है, तो ऐसी हालत में वह शिक्षा कैसे प्राप्त कर सकेंगे, कम पैसे की वजह से लोग अच्छे ट्यूशन नहीं कर पाते हैं, अच्छे स्कूलों में दाखिला नहीं ले पाते हैं, कुछ भी अच्छा करने के लिए उन्हें 2 बार सोचना पड़ता है की जो पैसा है हाथ में उसे कहां लगाएं, इसी तरह की तमाम उलझन वाली जब चित्र सामने आती है तो दिमाग उलझन और असमंजस में पड़ जाता है , उसे समझ नहीं आता है कि उसे क्या करना चाहिए. कई बार छात्रों को स्कूल से इस वजह से निकाल दिया जाता है कि वे समय पर फीस नहीं भरते हैं. तो इस तरह की तमाम बातें भी कुछ लोगों के साथ हो जाती हैं जिस वजह से वे सफल नहीं हो पाते हैं.

गलत संगति का होना- कुछ लोगों में यह भी देखा गया है कि वह पढ़ने में अच्छे होते हैं, वे दिन रात मेहनत करते हैं और अच्छा रिजल्ट भी देते हैं, लेकिन कुछ समय बाद वे सब कुछ गड़बड़ करने लगते हैं, वी अच्छा रिजल्ट नहीं दे पाते हैं, पढ़ाई से उनका ध्यान हटने लगता है, और यह सब गलत समिति के कारण होता है, संतों ने कहा है कि आप जैसा संगति करेंगे आपकी बुद्धि वैसे ही रहेगी, इसलिए किसी भी व्यक्ति को अच्छी संगति करनी चाहिए, और बुरे लोगों की संगति से हमेशा बचना चाहिए . इसलिए जब तक आप छात्र जीवन में है तब तक आप बुरे लोगों से दूर रहे, उनकी संगति ना करें, क्योंकि यह पढ़ाई में बाधक हो सकते हैं.
कंक्लुजन ( conclusion ) - अंततः निष्कर्ष निकलता है कि हमें यदि सफल होना है तो, अच्छी सोच के साथ मेहनत करना होगा, काम से जी चुराने से बचना होगा, अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देना होगा, बुरी संगती से बचना होगा, इच्छा शक्ति का विकास करना होगा , भविष्य की मधुर यादों में खोए रहने से अच्छा है कि वर्तमान में रहकर कठिन मेहनत करें और सफलता के पथ पर आगे बढ़े, आप आगे बढ़ेंगे तो आप से जुटे लोगों को भी राहत मिलेगी. आप खुश रहेंगे तो आप से जुटे लोग भी खुश रहेंगे. इससे माहौल बहुत ही अच्छा और सुंदर बनेगा, और इस तरह के सुंदर माहौल में रहना बहुत ही आनंददायक रहता है, जिंदगी आसान होती है जीने में.
इस पोस्ट में अपना बहुमूल्य समय देने के लिए आप लोगों का बहुत -बहुत धन्यवाद, कैरियर से जुड़ी जानकारी पाने के लिए इस वेबसाइट पर निरंतर विजिट करते रहे धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments