दसवीं के बाद how to crack any exam / किसी भी परीक्षा को कैसे पास करें/Sarkari Naukari/ Sarkari Result

नमस्कार दोस्तों इस आर्टिकल में आप लोग का बहुत स्वागत है इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि हम कैसे किसी भी कंपटीशन की तैयारी कर सकते हैं खास करके वह कंपटीशन जो स्नातक के बाद होते हैं , तो ऐसे कंपटीशन का तैयारी हम कैसे कर सकते हैं, और ऐसा कौन सा तरीका है जिससे हम कम किताबें पढ़कर ज्यादा
से ज्यादा कंपटीशन की तैयारी कर सकते हैं .
how to crack any exam / किसी भी परीक्षा को कैसे पास करें

अर्थमैटिक की तैयारी करना- ग्रेजुएशन के बाद ज्यादातर जो कंपटीशन एग्जाम है खासकर के रेलवे के एग्जाम, एसएससी के एग्जाम, और यूपीएससी के एग्जाम इन सभी परीक्षाओं में अंकगणित ज्यादा पूछा जाता है, अब जो छात्र गणित स्ट्रीम के होते हैं व अंकगणित को कर लेते हैं, लेकिन जो छात्र दूसरे स्ट्रीम के होते हैं जैसे कि आर्ट, बायो, कॉमर्स इत्यादि स्ट्रीम के छात्र को अंक गणित की तैयारी करने में परेशानी का सामना करना पड़ता है. लेकिन वही अगर मैथ्स स्ट्रीम का छात्र रहे वह इसे आसानी से हैंडल कर लेता है. तो अंकगणित आपको अगर तैयार करना है तो वैसे ही पढ़ना शुरू कर दीजिए, और अंकगणित की जो किताबे आती हैं पुणे बाजार से लेकर आप प्रैक्टिस करना शुरू कर दीजिए. वैसे तो मार्केट में आर एस अग्रवाल की किताब ज्यादा फेमस मानी जाती है जहां तक अंक गणित का सवाल है. आप चाहे तो कोई और किताब भी ले सकते हैं या एक से ज्यादा किताब भी फॉलो कर सकते हैं . अंकगणित ठीक करने के लिए आपको रेगुलर प्रैक्टिस करना बहुत ही जरूरी है. अगर आप थोड़ा सा भी ध्यान देंगे तो अंकगणित अपना ठीक कर लेंगे.
रिजनिंग- रिजनिंग सेक्टर एक तरह का मैथमेटिकल सेक्टर ही होता है लेकिन इसमें जो क्वेश्चन पूछे जाते हैं वह थोड़ा सा दूसरे ढंग के होते हैं , रिजनिंग को दो भागों में बांटा जा सकता है वर्बल रीजनिंग और नॉन वर्बल रीजनिंग आप आर एस अग्रवाल की वर्बल रीजनिंग और नॉनवर्बल रीजनिंग की किताबें लेकर उसमें अच्छा खासा अध्ययन प्राप्त कर सकते हैं, इसके अलावा अब दूसरी किताबें भी फॉलो करें, ताकि रीजनिंग में आपका कंसेप्ट बिल्कुल अच्छा हो जाए, और एग्जाम में जो भी प्रश्न रीजनिंग से रिलेटेड है उसे आप आसानी से सॉल्व कर सकें, अगर रिजनिंग को सॉल्व करना आपको कठिन लगता है तो आप ट्यूशन का भी मदद ले सकते हैं. या यूं कहें कि आप किसी कोचिंग संस्थान का मदद ले ले . ताकि आप की तैयारी में किसी भी प्रकार का बाधा ना पड़ सके .
इंग्लिश की तैयारी- अंकगणित और रिजनिंग की तैयारी के साथ साथ इंग्लिश की भी तैयारी करना बहुत ही जरूरी है , इंग्लिश की तैयारी के लिए आपको 2 या 3 किताबे रखनी चाहिए , जो आपको अच्छी जानकारी प्रदान कर सकें, इंग्लिश में वोकैबलरी ठीक करने के लिए आपको नार्मल लुईस की बुक से काफी ज्यादा मदद मिल सकती है, इसके अलावा भी दूसरी अन्य बुक फॉलो करें ताकि आपको इंग्लिश में हर तरह का ज्ञान मिल सके. इंग्लिश में एक सेक्टर रहता है कंप्रीहेंशन का जो आजकल ज्यादातर परीक्षा में पूछा जा रहा है, और इस सेक्शन में ज्यादातर लड़के सही रेस्पॉन्ड नहीं कर पाते हैं, इस क्षेत्र में अच्छा रेस्पॉन्ड करने के लिए आपको चाहिए कि आप की प्रेक्टिस अच्छी हो.
जीके व करंट अफेयर्स- कोई भी एग्जाम आजकल जो लिया जाता है उनमें से 10 से 15 परसेंट क्वेश्चन या यूं कहिए की 20 परसेंट तक क्वेश्चन , करंट अफेयर्स रिलेटेड होते हैं, और जीके के क्वेश्चन भी आजकल पूछे जाते हैं तो अगर आप इन सब चीजों का तैयारी कर लेते हैं तो आपको परीक्षा में जो ज्यादातर स्नातक के बाद होती है, जॉब नौकरी से रिलेटेड होती है. उन्हें आप आसानी से दे सकते हैं. और इन परीक्षाओं को पास कर अपना नौकरी सुरक्षित कर सकते है .
कंक्लुजन- ज्यादा से ज्यादा परीक्षाओं में अंकगणित, रिजनिंग, इंग्लिश कंप्रीहेंशन, करंट अफेयर्स एंड जीके पूछा जाता है. अतः आप इन सभी चीजों तैयारी कर ले. क्योंकि इन सभी करने के बाद अब बैंक पी ओ, रेलवे एग्जाम ,एसएससी, और यूपीएससी के ढेर सारे एक्जाम को कवर कर सकते हैं. इसे कहते हैं एक पंथ और दो कागज. इस आर्टिकल में अपना बहुमूल्य समय देने के लिए आप लोग का बहुत बहुत धन्यवाद. करियर से जुड़ी जानकारी के लिए इस साइट पर विजिट करते रहे.



Post a Comment

1 Comments

Emoji
(y)
:)
:(
hihi
:-)
:D
=D
:-d
;(
;-(
@-)
:P
:o
:>)
(o)
:p
(p)
:-s
(m)
8-)
:-t
:-b
b-(
:-#
=p~
x-)
(k)