class 10th math study material only for foreigner students (click below and download )




रोज़ गवर्नमेंट जॉब की सुचना पाने के लिए अपना ई-मेल डाले और subscribe पर क्लिक करे

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

free download video study material

bba full form / bbm full form / bba course details

bba full form / bbm  full form  / bba course details


बी बी ए करने के बाद कैसे अपना कैरियर को आगे बढ़ाएं ( how to make your career after BBA course ) -

आप अपने कैरियर में शानदार और अच्छा बनाने के लिए बीबीए का कोर्स करने के बाद, एमएस ऑफिस (ms office ) और एमआईएस ( मैनेजमेंट इनफॉरमेशन सिस्टम - management information system ) का एक क्विक सर्टिफिकेशन कोर्स जरूर से करें, बी बी ए की डिग्री (BBA degree ) के साथ इन सॉफ्टवेयर की जानकारी रखना के आपके लिए बहुत ही जरूरी है , आपको कारपोरेट वर्ल्ड में प्रवेश करने के लिए पूरी तैयारी करनी होगी , इससे आपकी स्किल्स भी बढ़ेगी और आप आने वाली मार्केट चुनौतियों का सामना करने में सक्षम हो जाएंगे , इसके अलावा, आप, पेपर पढ़ने की भी आदत बनाएं अपने पीयर ग्रुप के साथ ग्रुप इंटरेक्शन ( group interaction ) में भाग ले , और जो भी आने वाली नई मार्केट trades उसे अच्छी तरह से जानने की कोशिश करते रहे .

चुकी बीबीए EK मैनेजमेंट कोर्स ( management course ) है इसलिए एक मैनेजमेंट स्टूडेंट ( management student ) के तौर पर आपकी कम्युनिकेशन स्किल ( communication skill ) बहुत ही अच्छी होनी चाहिए, और जिस हिसाब से मार्केट डेवलपमेंट हो रहा है इसके अनुसार आपको काम करना चाहिए, इससे आपका रिज्यूम तो मजबूत नहीं होगा लेकिन आप मैनेजमेंट में आगे पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री ( post graduation degree ) करने के बारे में अच्छी तरह सोच समझ कर फैसला ले लेने के काबिल हो जाएंगे , इसके अलावा, बी बी ए ग्रैजुएट मास कम्युनिकेशन, एनीमेशन, इवेंट मैनेजमेंट मैं भी अगर आप जानकारी ले ले तो अच्छा रहेगा , और हो सके तो उसमें कुछ शॉर्ट टर्म कोर्स ( short-term course ) भी कर लीजिए . क्योंकि यह छोटी-छोटी जानकारी और छोटे-छोटे शॉर्ट टर्म कोर्स आपको आगे ले जायेंगे .

बीबीए का स्कोप ( BBA career scope )-

आजकल बीवी ए ग्रैजुएट BBA graduate ) के लिए जॉब (job ) के वैसे तो बहुत सारे अवसर मौजूद है, खासतौर पर बीबीए ग्रैजुएट्स एक मैनेजमेंट ट्रेनी (management trainee ) के तौर पर, बीसीए ग्रैजुएट्स एक मैनेजमेंट ट्रेनिंग के तौर पर विभिन्न कंपनियों (companies ) में सेल्स और मार्केटिंग डिपार्टमेंट में आप जॉब कर सकते हैं कुछ ही वर्षों का अनुभव हो जाने के बाद बी बी ए डिग्री से आप किसी भी कंपनी में लीडरशिप पोजिशन प्राप्त कर सकते हैं, इस पेशा में आपको शुरू शुरू में 12000 से लेकर ₹20000 प्रति माह तक वेतन (salary ) मिलता है , आपका वेतन बाजार कंपनी के मूल्य के साथ ही आपकी स्किल और टैलेंट पर भी निर्भर करता है



BBA के टॉप कोर्सेज ( top courses of BBA ) -

बैचलर आफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन की डिग्री ( BBA ) प्राप्त करने के बाद आपके पास कई कोर्सेज के ऑप्शन मौजूद होते हैं , आप अपने रुझान , पैशन, स्किल टेस्ट ( skill test ) और प्रवृत्ति के आधार पर पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स भी कर सकते हैं , निम्नलिखित प्रकार के पोस्ट ग्रेजुएशन करके अपना भविष्य संवार सकते हैं

एमबीए ( मास्टर आफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन -master of business adminstration )

BBA की डिग्री प्राप्त करने के बाद ज्यादातर लोगों का मन पसंदीदा सब्जेक्ट जो होता है वह है एमबीए( MBA) , इस डिग्री को प्राप्त करने के बाद न केवल आपको एक सम्मानजनक मैनेजमेंट डिग्री मिलता है बल्कि आपको एक अच्छी खासी सैलरी भी मिलती है इस कोर्स की अवधि 2 साल की होती है, चुकी अगर आप एमबीए रेगुलर कोर्स ( regular MBA course ) करेंगे तो यह आपको 2 साल का पड़ेगा, वहीं अगर आप पार्ट टाइम एमबीए( part time MBA ) करते हैं तो आपको यह 3 साल का कोर्स पड़ेगा, वहीं अगर आप एग्जीक्यूटिव एमबीए ( executive MBA ) करते हैं तो यह आपको 1 साल का करना पड़ेगा ,

एमबीए कॉलेज (MBA college ) में प्रवेश आप विभिन्न प्रकार के प्रवेश परीक्षा एग्जाम देकर ले सकते हैं, सबसे ज्यादा प्रसिद्ध एग्जामिनेशन CAT-MBA है , ज्यादा से ज्यादा छात्र कोशिश करते हैं कि वे कैट की प्रवेश परीक्षा (CAT entrance exam ) को उत्तीर्ण करके, एमबीए का कोर्स करें. यदि आप कैट की प्रवेश परीक्षा को पास करने में असफल हो जाते हैं तो आप दूसरी प्रवेश परीक्षाओं को भी दे सकते हैं जैसे MAT, XAT , SNAP .XLRI jamshedpur ,symbosis pune .... इत्यादि . एमबीए कोर्सेज में financमार्केटिंग ( marketing ) , फाइनेंस (finace ) , एचआर ( H.R ) और इंटरनेशनल ट्रेड ( international trade ) में कई शामिल है कोर्सेज जो आप अपनी रुचि के अनुसार चुन सकते हैं , इसका मतलब यह है कि एमबीए के बाद आप टेक्नोलॉजी (technology ), हेल्थ केयर ( health care ) , मैन्युफैक्चरिंग ( manufacturing ) , गवर्नमेंट एजेंसी ( government agencies ) , नेट प्रॉफिट ऑर्गेनाइजेशन इत्यादि क्षेत्रों में कार्यभार संभाल सकते हैं, इसके लिए आपको एमबीए डिग्री बहुत ही मदद करेगी, इन कंपनियों में नौकरी के साथ-साथ आपको अच्छी खासी communication skill भी होनी चाहिए, क्योंकि एमबीए एक ऐसा प्रोग्राम है जो आपकी पर्सनालिटी को पूरी तरह से एकदम वर्सेटाइल बना देता है, जो किसी भी कंपनी में काम करने के लिए एकदम सही होता है .
भारत में कुल टाइप के एमबीए कॉलेज इस प्रकार से है, जितने भी आई आई एम कॉलेज हैं वह सभी टॉप कॉलेजेस में चले आते हैं , इसके अलावा एफएमएस ( FMS ) , आईआईएफटी (IIFT ) , जेबीआईएमएस ( JBIMS ) , एमडीआई गुड़गांव (MDI gurgavo ) , आईएमटी गाजियाबाद ( IMT gaziyanbaad ) , एमआईसी अहमदाबाद ( MIC ahemedabad ) , और एक्सएलआरआई जमशेदपुर (XLRI jamshedpur ) है .

पीजीडीएम ( पोस्ट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट -post graduate diploma in management ) - पीजीडीएम ( PGDM ) , एमबीए का ही एक वैकल्पिक रूप है , यद्यपि एमबीए और पीजीडीएम कोर्स ( PGDM course) में कोई बहुत ज्यादा अंतर नहीं होता है , एमबीए यूनिवर्सिटीज ( MBA universities ) द्वारा ऑफर किए जाने वाला एक डिग्री कोर्स है , जबकि पीजीडीएम विभिन्न ऑटोनॉमस इंस्टीट्यूट द्वारा ऑफर किए जाने वाला डिप्लोमा कोर्स है कई कॉलेज 1 वर्ष के पीजीडीएम कोर्सेज भी ऑफर करते हैं . आईएम से जुटे कॉलेज और एक्सएलआरआई में एडमिशन लेना बहुत मुश्किल काम होता है , इसलिए स्टूडेंट मीड लेवल एमबीए कॉलेज ( MBA college ) द्वारा ऑफर किए जाने वाले पीजीडीएम कोर्स करते हैं , पीजीडीएम कोर्स का भी बढ़िया करिकुलम होता है और कई कंपनियां जॉब देते समय कई कंपनियां इस कोर्स को महत्व देती है

एमएमएस ( मास्टर डिग्री इन मैनेजमेंट स्टडीज - master degree in management studies ) - मैनेजमेंट स्टडीज में मास्टर डिग्री भी एमबीए का एक ऑप्शन है, एम एम एस की ड्यूरेशंस भी 2 वर्ष होती है और यह कोर्स विभिन्न सरकारी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी द्वारा ऑफर किया जाता है, इस कोर्स में एडमिशन लेने का एलिजिबिलिटी क्रिटेरिया है कम से कम आप को 50% मार्क साथ किसी भी विषय में ग्रेजुएशन डिग्री ( graduation degree ) होना चाहिए फाइनल ईयर की स्टूडेंट भी इस कोर्स के लिए अप्लाई कर सकते हैं .
एम एम एस कोर्स आपको मैनेजमेंट स्किल सिखाने में काफी मदद करता है , जयपुर सबको एंटरप्रेन्योरशिप स्किल भी सिखाता है, स्कोर स्कोर सफलतापूर्वक करने के बाद आप को सम्मानजनक मैनेजमेंट पोजिशन और काफी अच्छा सैलरी मिल जाता है .
बीबीए के बाद अवसर ( JOB opportunity after MBA ) -
मैनेजमेंट प्रोफेशनल को इस बात का पूरा ध्यान रखना चाहिए कि एडमिस्ट्रेटिव स्किल ( administrative skill ) विकास के लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है, इसके अलावा ek MBA ग्रेजुएट ( MBA graduate ) होने के नाते आपको उपलब्ध रिसोर्सेज का बेहतरीन इस्तेमाल करना चाहिए जिससे बिजनेस का अच्छा ढंग से विकास हो सके . एक तरफ तो आप किसी भी कंपनी में अकाउंटिंग ( accounting ) , फाइनेंस ( finance ) , अकाउंटिंग और टेक्नोलॉजी आदि को हैंडल करना आना चाहिए और दूसरी तरफ आपको मैनेजमेंट स्किल में भी नॉलेज होना चाहिए ताकि एक सोचा बिचारा निर्णय लेने में पूरी तरह से सक्षम हो जाएं.

बीबीए के बाद प्राइवेट सेक्टर में जॉब कैसे पाए ( how to get job in private sector after BBA ) -

BBA के बाद प्राइवेट सेक्टर की कंपनियों में आप जाकर जॉब पा सकते हैं, लेकिन प्राइवेट सेक्टर की कंपनियों में कंपटीशन ( competition ) ज्यादा होता है, आपको की प्रॉब्लम सॉल्विंग और डिसीजन लेने की जो स्किल है इसको थोड़ा बढ़ाना होगा, मार्केट में आने वाली चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा , ताकि आप प्राइवेट सेक्टर ( private sector ) में जो कंपटीशन रहता है उसको अच्छी तरह से हैंडल कर सके ,प्राइवेट कंपनियां मैनेजमेंट प्रोफेशनल को काफी अच्छी सैलरी ऑफर करती हैं

SEMrush

एडवरटाइजिंग (advertising )
एविएशन (aviation )
बैंकिंग (banking )
कंसलटेंसी ( consultancy )
डिजिटल मार्केटिंग ( digital -marketing )
एंटरटेनमेंट ( entertainment )
फाइनेंस ( finance )
इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी ( information technology )
इंश्योरेंस ( insurance )
मैन्युफैक्चरिंग ( manufacturing )
ऑफलाइन मार्केटिंग ( offline marketing )
ऑनलाइन मार्केटिंग ( online marketing )
मीडिया ( media )
अकाउंटेंसी ( accountancy )
इत्यादि ऐसे क्षेत्र हैं जहां आप जॉब करके अपना करियर सवार सकते हैं जहां तक प्राइवेट सेक्टर private sector ) का सवाल है .
BBA के बाद गवर्नमेंट सेक्टर में जॉब कैसे पाए ( how to find government job after BBa course ) -
सरकारी क्षेत्र में मैनेजमेंट प्रोफेशनल का सैलरी पैकेज प्राइवेट सेक्टर की तुलना में काफी अच्छा नहीं होता है, लेकिन सरकारी क्षेत्र में काम का प्रेशर काफी कम होता है जबकि प्राइवेट क्षेत्र ( private sector ) में बहुत ही ज्यादा होता है, तू जहां जितना ज्यादा पैसा मिलता है काम का प्रेशर इतना बढ़ता है जाता है, साथ ही साथ अगर आप की सैलरी बढ़ रही है तो टेक्निकल वर्किंग भी बढ़ती जाती है, सरकार द्वारा संचालित विभिन्न अकाउंटेंसी और फाइनेंस इंस्टीट्यूट हमेशा अपनी जॉब्स के लिए युवा बीबीए ग्रैजुएट्स को महत्व देते हैं , अगर आपके पास बीबीए की डिग्री ( BBA degree ) है तो आप सरकारी क्षेत्र में निकलने वाले POST को भरकर आपस में जा सकते
Job field after BBA -
बी बी ए की डिग्री प्राप्त करने के बाद आप रुझान और योग्यता के आधार पर निम्नलिखित क्षेत्रों में जा सकते हैं ,
एंटरप्रेन्योरशिप
फाइनेंस एंड अकाउंटिंग मैनेजमेंट ( Finanace and account management )
एचआर मैनेजमेंट ( HR management )
मार्केटिंग मैनेजमेंट ( marketing management )
सप्लाई चैन मैनेजमेंट ( supply chain management )
टूरिज्म मैनेजमेंट ( tourism management )
इत्यादि क्षेत्रों में जाकर आप अपना करियर बना सकते

CONCLUSION- अंत में आप एक बात पर ध्यान दें कि बीबीए मैनेजमेंट में अपना कैरियर बनाने के लिए प्रॉब्लम्स सॉल्विंग स्किल्स , निर्णय लेने की क्षमता और कम्युनिकेशन स्किल ( communication skill ) यह सब आप अपना अच्छी तरह से विकसित कर ले, क्योंकि इससे बहुत ही ज्यादा आपको फायदा मिलेगा, आपका प्रमोशन अच्छी तरह से मिलेगा, और अब जब तो लगेगी ही . तो अगर आप इन सब बारीकियों का ध्यान देंगे तो आप मैनेजमेंट में अच्छा कैरियर बना सकते हैं बीवीए करने के बाद .


IAS के बारे में पूरी जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड पर क्लिक करके वीडियो  को डाउनलोड कर लीजिये और फिर वीडियो खोलकर पढ़ना सुरु कर दीजिये घर बैठे 


No comments:

Post a Comment