POLYTECHNIC college me admission ke liye form apply kare 2018-2019 in hindi

POLYTECHNIC college me admission ke liye form apply kare 2018-2019 in hindi


दोस्तों इस आर्टिकल में हम जानेंगे पॉलिटेक्निक के बारे में , पॉलिटेक्निक क्या है? क्यों है? और इसके फायदे क्या है? इसकी एलिजिबिलिटी क्या होती है ? इसको करने के बाद नौकरी के अवसर कहां- कहां हैं ?
इसको करने के बाद हम लोग सरकारी क्षेत्र में जूनियर इंजीनियर कैसे बन सकते हैं कैसे बन सकते हैं ?
इस तरह की तमाम बातों का उत्तर हम इस अपने आर्टिकल में जानेंगे I

तू पॉलिटेक्निक का जो कोर्स है उसे टेक्निकल माना जाता है और यह प्रोफेशनल कोर्स के अंतर्गत आता है I
पॉलिटेक्निक चाहे तो आप सरकारी कॉलेज से भी कर सकते हैं और प्राइवेट कॉलेज से भी कर सकते हैं , मतलब दोनों तरह के ऑप्शन आपके लिए उपलब्ध है , अब कितने लोगों का यह सोचना है कि प्राइवेट कॉलेज से जो हम लोग पॉलिटेक्निक करते हैं उसकी वैल्यू नहीं होती है I तो यह बिल्कुल गलत धारणा है, अब चाहे प्राइवेट कॉलेज से करें या सरकारी कॉलेज से करें डिग्री जो है आपको वह एक ही मिलेगी क्योंकि देखिए जितने सारे कॉलेज होते हैं गवर्मेंट कॉलेज हो या प्राइवेट कॉलेजों सभी एक बोर्ड द्वारा बंधे होते हैं, इसलिए डिग्री देने का काम जो काम है वह बोर्ड करती है और पढ़ाने का जो काम हैं वह इस्टीट्यूट करते हैं, अब यह इस्टीट्यूट सरकारी संस्था के हो सकते हैं या प्राइवेट संस्था की भी हो सकते हैं,


अगर गवर्नमेंट संस्था को होंगे तो उस पर सरकारी कॉलेज का नाम लिखा रहता है और उस बोर्ड का नाम लिखा रहता है, वहीं अगर प्राइवेट कॉलेज होता है तो प्राइवेट कॉलेज का नाम लिखा रहता है और उस वोडका का नाम लिखा रहता है I

तो इसमें किसी तरह का भ्रम ना पाले, क्योंकि ज्यादातर प्रश्न पूछा जाता है की प्राइवेट कॉलेज से करना सही रहता है या गवर्नमेंट कॉलेज से, तो उत्तर यही है कि आप किसी भी कॉलेज से करे कोई प्रॉब्लम नहीं है I गवर्नमेंट कॉलेज से करने से फायदा यह रहता है की आपको फीस थोड़ा कम देनी पड़ती है, जैसे कि मान लीजिए यदि पॉलिटेक्निक करने जा रहे हैं आप और फर्स्ट ईयर में आपको लगभग 60000 फीस देनी पड़ती है प्राइवेट कॉलेज में, तो आपको गवर्नमेंट कॉलेज में 20 से ₹25000 में ही काम चल जाएगा I और दूसरा फायदा यह होता है कि गवर्नमेंट कॉलेज में कैंपस सिलेक्शन प्राइवेट कॉलेज की अपेक्षा थोड़ा ज्यादा होता है I

अब बात करते हैं कि किस कैटेगरी के लोग पॉलिटेक्निक कर सकते हैं ? तू देखिए पॉलिटेक्निक करने की जो योग्यता है वह 10 वी पास होती है , लेकिन ज्यादातर यह देखा गया है कि 12वीं पास करने के बाद ही स्टूडेंट पॉलिटेक्निक में प्रवेश लेते हैं I तो यह ठीक भी है अगर अब 12वीं पास कर ले और फिर पॉलिटेक्निक का एंट्रेंस एग्जामिनेशन देकर , कॉलेज का चयन करके पढ़ाई करें, तो फिर फायदा है I

वैसे पॉलिटेक्निक करने की जहां बात है, तो अब दसवीं पास करके भी पॉलिटेक्निक का एग्जाम दे सकते हैं ] लेकिन फिर वह सारे आप एग्जाम नहीं दे पाएंगे जो 12वीं के बाद होते हैं I जैसे एसएससी, SCRA , इत्यादि I
एक बात और आपको समझ लेना चाहिए कि 12वीं के बाद अगर आप पॉलिटेक्निक करते हैं , तू जो डिग्री मिलती है व डिप्लोमा की होती है , अब कितने लोग यह समझते हैं कि क्योंकि उन्होंने 3 साल का कोर्स किया है इसलिए वह डिग्री कोर्स हो गया , अगर आप ऐसा सोच रहे हैं तो यह एकदम गलत कंसेप्ट है , क्योंकि अगर दसवीं के बाद 3 साल का कोर्स करके डिग्री मिलता, तू 12वीं के बाद के बाद 3 साल का जो कोर्स करके डिग्री मिलता है उसमें अंतर ही क्या रह जाएगा , तो इसी वजह से दसवीं के बाद जो पॉलिटेक्निक का डिग्री लेते हैं वह डिप्लोमा की होती है , चुकी पॉलिटेक्निक की जो डिग्री है वह डिग्री ना होकर डिप्लोमा है , इसलिए ग्रेजुएशन बाद वाले जितने भी एंट्रेंस एग्जामिनेशन होते हैं जैसे - SSC CGL, IAS, PCS, BANK PO , FCI , RAILWAY EXAMS ......... इत्यादि यह सभी परीक्षा आप नहीं दे पाएंगे I

पॉलिटेक्निक करने से फायदा क्या है यह हम जानेंगे, पॉलिटेक्निक करने से सबसे बड़ा फायदा यह है , कि आपको कम मेहनत में कुछ अच्छा मिल जाएगा, क्योंकि पॉलिटेक्निक जो है वह बीटेक की तरह ना तो बहुत ज्यादा कठिन है, और ना ही B.A की तरह सरल है , इसलिए इसे आप आराम से कर सकते हैं बिना किसी झंझट के I
अधिकतर यह देखा गया है कि बहुत ही कम टैलेंट वाले लड़के इसे आसानी से कर लेते हैं , और अपना कैरियर बना लेते हैं I अप पॉलिटेक्निक करने के बाद आप की नौकरी लगी जाएगी इसकी कोई गारंटी नहीं होती है, अब तो अधिकतर यह देखा गया है, कि यदि एक वर्ष में कुल 500000 लड़के पास होते हैं तू उनमें से मात्र 50000 से लेकर 100000 लड़कों का ही किसी न किसी कंपनी में सिलेक्शन होता है I इसलिए कंपटीशन टाइट है, और सीटें कम है इसलिए हो सकता है कि केंपस सिलेक्शन ऑनलाइन या ऑफलाइन बहुत ही कम हो I तु जब भी आप पॉलिटेक्निक करने जा रहे हैं तो इसका भी आप ध्यान में रखें, ताकि आपको किसी तरह का नुकसान ना उठाना पड़े I

अब सवाल यह उठता है कि पॉलिटेक्निक करने के बाद जूनियर इंजीनियर कैसे बन सकते हैं वह भी सरकारी क्षेत्र में , तो उत्तर यह है कि पॉलिटेक्निक करने के बाद जूनियर इंजीनियर की भर्ती निकलती रहती है, जैसे सिविल लाइन इलेक्ट्रिकल लाइन इस तरह के ब्रांच में जूनियर इंजीनियर की पोस्ट निकलती रहती है , तू बस आपको जूनियर इंजीनियर का जो पोस्ट निकलता है उसका फॉर्म भर देना है और एंट्रेंस एग्जामिनेशन दे देना है अगर आप क्वालीफाई कर लेते हैं तो आप जूनियर इंजीनियर बन जाएंगे I अब यह मत सोचिएगा की जूनियर इंजीनियर बन गए हैं तो आप असिस्टेंट इंजीनियर भी बन जाएंगे , वह इसलिए क्योंकि असिस्टेंट इंजीनियर बनने के लिए आपके पास बी टेक की डिग्री का होना बहुत ही जरूरी है I
वैसे प्रमोशन होने पर भी आप जूनियर इंजीनियर से असिस्टेंट इंजीनियर बन सकते हैं , लेकिन इसमें समय बहुत ज्यादा लग जाता है I

अंत में दोस्तों इस आर्टिकल में यही कहना चाहूंगा कि जब भी आप पॉलिटेक्निक करने जाएं, तू सोच समझ के ब्रांच का सिलेक्शन करें, ऐसा ना हो कि जैसे नहीं ऐसे ही ब्रांच को आपने सेलेक्ट कर लिया और पॉलिटेक्निक करने बैठ गए , इस तरह से कुछ नहीं होगा, या यूं कहीं की बहुत ही कम फायदा आपको मिलेगा I अगर आपके अगल-बगल कोई कंपनी हो जैसे कि मान लीजिए आपके अगल-बगल कोई प्लास्टिक की कंपनी है , तो उसमें कुछ दिन काम कर लीजिए, चाहे जैसा भी काम मिले, दस 15 दिन काम करने के बाद आपको आइडिया लग जाएगा कि उस कंपनी का रिक्वायरमेंट क्या है और अगर आप प्लास्टिक से पॉलिटेक्निक करके आते हैं तो उसमें आप को सैलरी कैसे मिलेगी ? इन सब बातों का जायजा आपको मिल जाएगा , इससे आपको बहुत ही ज्यादा फायदा मिलेगा I यह ट्रिक एक बार जरूर अपना कर देखिएगा , यह ट्रिक 100 परसेंट वर्किंग ट्रिक है , बैटरी बहुत ही कम लोग फॉलो कर पाते हैं क्योंकि उन्हें पता ही नहीं होता है I

इस आर्टिकल में अपना अमूल्य समय देने के लिए आप लोगों का बहुत बहुत धन्यवाद , खैरियत से जुड़ी जानकारी पाने के लिए हमारे इस साइट को आप सब्सक्राइब कर ले, ताकि जैसे ही कोई आर्टिकल लिखा जाए आपको इसकी जानकारी नोटिफिकेशन के द्वारा तुरंत मिल जाए I

Post a Comment

0 Comments